Article

ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर की किया गया गिरफ्तार, अपमानजनक टिप्पणी और धार्मिक अशांति फैलाने के लगे आरोप

 28 Jun 2022

ऑल्ट न्यूज के एक को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल IFSO की यूनिट ने सेक्शन 153 और 295A के तहत गिरफ्तार कर लिया है जिस पर आरोप है कि सोशल मीडिया की सहायता से धार्मिक भावनाएं और लोगों को उकसाने का काम किया है। 

 

ऑल्ट न्यूज एक वेब पोर्टल है जिसकी स्थापना 9 फरवरी 2017 को फर्जी खबर और झूठी अफवाओं को निपटाने और उनका सच सामने लाने के लिए लॉन्च किया गया था। ऑल्ट न्यूज जोकि एक वेब पोर्टल है, इसकी स्थापना पूर्व सॉफ्टवेयर इंजीनियर प्रतीक सिन्हा और मोहम्मद जुबैर ने मिलकर की थी।

 

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हमारे अधिकारिओं के ख़िलाफ़ इस मामले से जुड़े सारे प्रमाण है और इसकी सहायता से दिल्ली पुलिस अब मोहम्मद जुबैर को इस मामले से जुड़ी और अन्य जानकारी के सदर्भ में पूछताछ करने के लिए जज के सामने पेश किया जाएगा ताकि आगामी पूछताछ के लिए अनुमति मिल सके। 

 

"इस मामले की के संदर्भ में ऑल्ट न्यूज के दूसरे को-फाउंडर प्रतीक सिन्हा ने भी अपने सहयोगी मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी को लेकर ट्वीट में कहा कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 2020 के एक मामले में पूछताछ करने के लिए मोहम्मद जुबैर को बुलाया था, उस मामले में उनकी गिरफ्तारी पर हाईकोर्ट ने पहले ही रोक लगा रखी है। 27 जून की रत को जुबैर की गिरफ्तारी एक अन्य केस में हुई है और जिन धाराओं में उनकी गिरफ्तारी हुई है, उनके तहत गिरफ्तारी से पहले अनिवार्य नोटिस नहीं दिया गया। बार-बार अनुरोध के बावजूद हमें FIR की कॉपी भी नहीं दी जा रही है।"

 

मोहम्मद जुबैर की गिरफ़्तारी का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। इसी क्रम में कई विपक्षी पार्टियों जैसे कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, AIMIM और TMC ने भी इस घटना पर आपत्ति जताते हुए ट्वीट कर अपने विचार सांझा किए है।

 

जुबैर की गिरफ़्तारी पर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने आपत्ति जताते हुए कहा कि "मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी अत्यंत निंदनीय है और उन्हें बिना किसी नोटिस के किसी अज्ञात FIR के तहत गिरफ्तार किया गया है। यह पूरी तरह प्रक्रिया का उल्लंघन है और दिल्ली पुलिस मुस्लिम-विरोधी नरसंहार के नारे लगाने वालों के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाती है, लेकिन हेट-स्पीच की रिपोर्टिंग करने के 'क्राइम' और मिस-इंफॉर्मेशन का मुकाबला करने वालों के खिलाफ तेजी से कार्रवाई करती है।"

 

पश्चिम बंगाल से भी ममता बनर्जी की TMC पार्टी ने भी गिरफ्तारी को ग़लत ठहराया है और TMC पार्टी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने PM नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को अपने ट्वीट में टैग करते हुए कहा कि "दुनिया के बेहतरीन पत्रकारों में से एक की गिरफ्तारी बेहद निंदनीय है, मोहम्मद जुबैर हर दिन भाजपा की फेक न्यूज फैक्ट्री का पर्दाफाश करते हैं।"
 

 

 

रिपोर्ट-  प्रदीप चौधरी