Article

ऊंचाहार से अमरपाल मौर्य को बनाया बीजेपी प्रत्याशी, "एंटी गुंडा गुंडी सेल" की हुई स्थापना

 15 Feb 2022

चुनावी के दौर में विपक्षी दलों द्वारा तरह-तरह के बयान देने के मामले तो सामने आते ही हैं लेकिन ऊंचाहार विधानसभा इस समय एक ऐसे मुद्दे को लेकर चर्चा में बनी हुई है जिस पर जनता का रुझान काफी नज़र आ रहा है। जनता रुचि लेकर इस मामले का प्रचार करने का भी काम कर रही है, दरअसल भाजपा ने ऊंचाहार विधानसभा क्षेत्र से प्रदेश के महामंत्री अमरपाल मौर्य को अपनी पार्टी का प्रत्याशी बनाया है, जैसे ही प्रत्याशी की घोषणा हुई अमरपाल मौर्य ने "एंटी गुंडा गुंडी सेल" की स्थापना करके एक टोल फ्री नंबर जारी किया  है। इस फ़ोन नम्बर से जबरन जमीन कब्जा करने वाले झूठे मुकदमे में फंसाने वाले, गरीब और कमजोर वर्ग को दबाने वालों, महिलाओं और लड़कियों के साथ अभद्रता करने वालों सहित समाज में अराजकता फ़ैलाने वाले तत्वों पर कार्रवाई की बात कही गई है यह "एंटी गुंडा गुंडी सेल" केवल ऊंचाहार विधानसभा क्षेत्र में ही चर्चा का विषय नहीं है बल्कि आसपास के जिलों में भी यह चर्चा का विषय बनी हुई और तो सिर्फ़ एक सप्ताह में ही लगभग 150 से अधिक शिकायतें टोल फ्री नंबर पर दर्ज हो चुकी हैं।

अमरपाल मौर्य ने बताया कि ऊंचाहार क्षेत्र में सपा विधायक गुंडों को पाल रखा है और उन्हें गुंडों से वह गरीब और कमजोर लोगों की जमीनों को जबरदस्ती हड़प लिया है कुछ शांति प्रिय लोगों पर फर्जी तरीके से मुकदमा दर्ज़ कर दिया है और इस तरह सपा के गुंडे क्षेत्र में अराजकता का माहौल पैदा कर दिए है। जिस के भय से ना तो लोग शिकायत कर पाते हैं और ना ही अपने पर हुए अत्याचार के बारे में किसी से कह पाते हैं। जैसे ही जानकारी मुझे मिली तो तुरंत "एंटी गुंडा गुंडी सेल" की स्थापना करके एक टोल फ्री नंबर क्षेत्र की जनता को दे दिया जिसमें अब तक150 से अधिक शिकायतें सपा प्रत्याशी के खिलाफ आ चुकी है। चुनाव हो जाने के बाद और सरकार बनते ही इन शिकायतों पर गुप्त तरीके से जांच कर गुंडों पर कार्यवाही की जाएगी। उनके साथ न्याय किया जाएगा एंटी भू माफिया सेल तो पहले से ही बना था लेकिन ऊंचाहार की जनता भय के मारे कभी शिकायत नहीं कर पाई लेकिन अब गुंडाराज का अंत होगा और सभी वर्ग के लोगों को न्याय मिलेगा। 


ऊंचाहार विधानसभा क्षेत्र में प्रत्याशियों के बीच इस समय जुबानी जंग काफी तेज हो चुकी है। भाजपा, सपा, बसपा और कांग्रेस के प्रत्याशी एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करने में लगे हुए है। जहां भाजपा ने प्रदेश महामंत्री अमरपाल मौर्य को उतारकर कमल का फूल खिलाने की जिम्मेदारी दी है वहा सपा ने अपने पुराने विधायक पर ही भरोसा जताया है और कांग्रेस ने भाजपा से आए हुए नेता अतुल सिंह को अपना प्रत्याशी बनाया तो बसपा ने अंजली मौर्य को अपना प्रत्याशी बनाया है। जब से भाजपा ने अपना प्रत्याशी अमरपाल मौर्य के रूप में उतारा है तब से सपा प्रत्याशी और विधायक मनोज पांडे के लिए मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आने लगी है। यही कारण है कि अमरपाल मौर्य को बाहरी बताते हुए जनता से वोट की मांग कर रहे हैं पर जैसे ही बाहरी की बात आती है तो अमरपाल मौर्य और उनके समर्थक भी चुप नहीं रहते। सपा प्रत्याशी पर हमला बोलते हुए कहते हैं सोनिया गांधी को भी लोगों ने बाहरी कहा था और जब सपा प्रत्याशी ऊंचाहार आया था तब वह भी बाहरी ही था और तो और अमरपाल मौर्य तो ऊंचाहार की गलियों में गुगुल्ली डंडा खेला है तो बाहरी कहां से हुआ। जहां सपा प्रत्याशी भाजपा प्रत्याशी को बाहरी कहकर वोट मांग रहे हैं, भाजपा प्रत्याशी अमरपाल मौर्य और उनके समर्थकों द्वारा सपा प्रत्याशी को गुंडा कहा जा रहा है और गुंडे की गुंडई को खत्म करने के लिए "एंटी गुंडा गुंडी सेल" की स्थापना भी कर दी गई है।